JSP Architecture In Hindi

JSP architecture In Hindi

JSP architecture: –

JSP java pale form का एक part है जो कि J2EE java enterprise edition से बना है

JSP के Execute होने पर page को move करने के लिए दो architecture / model / approach का प्रयोग किया जाता है

Model1:-

Page centric approach: –

इसे Client server approach भी कहा जाता है। तथा यह JSP को client की request पर database पे direct access देती है

Database को java bean में रखा जाता है तथा java bean द्वारा request access होने के बाद user को html के रूप में response दिया जाता है

इस model के कुछ फायदे है

जैसे कि यह fast है तथा इसमें dynamic content को बनाना आसान है।

यह model ज्यादा client के साथ कारगर नहीं है  तथा html ओर java port के mix होने की वजह से application को maintain करना भी tough है

 

Model 2

Dispatcher approach: –

इसे N tier approach भी कहा जाता है जिसमे JSP या servlet java bean से data bean तक पहुंचने वाली request के मध्य रखें जाते हैं

इस model में server side architecture को multiple fires में तोड़ा जाता है

इसमें request   model 1 की तरह की जाती है परन्तु dynamic content को java bean में जोड़कर browser में भेजा जाता है जिससे java के content को और application भी share कर सकती है।

Leave a Comment